दिल करता है 💞💞💞

इन बादलों ☁के पार उडने को मन करता है।

कुछ नया कुछ अलग करने को दिल करता है।

काबिल होती है इक लड़की भी,

दुनिया को ये समझाने को दिल करता है।

ख्वाब देख, उन्हें साकार करने को दिल करता है।

छोटी से बड़ी हो गई हूँ,

ये सुनते हुए कि तुम एक लड़की हो,👭

तुम परायी और हम पर बोझ हो।

हाँ मैं इक बेटी हूँ,

दुनिया को गर्व से ये कहने को दिल करता है।

IAS, IPS, बनना या,

अपना खुद का business करना।

ये सब बडे़ शहरों के बच्चों के लिए होता हैं,

क्या ये सच में सच है,

बस दिल से ये समझने को दिल करता है।

दादा कहते हैं बेटा जी तुम घर 🏡की इज्जत हो,

पापा कहते हैं बेटा जी तुम घर की खुशियाँ हो,

लेकिन अब तो………………

घर की पहचान बनने को दिल करता है।

इन बादलों के पार उडने को मन करता है,

जिंदगी खुलकर जीने को दिल करता है।

कुछ नया कुछ अलग करने को जी करता है।

जिंदगी मेरी है, मेरे खुदा ने सिर्फ मुझे बक्शी है,

सबको बस इतना समझाने को दिल करता है।

इन बादलों के पार उडने को दिल💜❤ करता है।

33 Comments

  1. Ha ghar ki ijjat hain betiyan…….unke bagair ghar sunaa lagta hai…….magar unhen bhi ajadi chahiye……..magar afshosh ……..aaj bh doyam darje ki jindagi jiti hain betiya.

    Liked by 2 people

  2. तुम कोशिश करो हर बार ,
    एक दिन आयेगा,
    जब यह सोच और ये समय भी बदल जायेगा,
    सब कुछ होगा तुम्हारी मर्जी का,
    जो तुझे खुद की पहचान दिलायेगा।।
    🙂🙂👍👍

    Liked by 3 people

  3. Bohot sundar. The words flow smoothly to the extent where the heart desires that the verses should never stop. Each and every emotion is so raw yet filled with a depth really adored. Keep it up.

    Liked by 2 people

  4. This is really pleasing to see that someone like you is really writing interesting and they are not ONE LINER always.
    God bless you madam.
    Keep it up.

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s